रविवार, 9 मई 2010

बारिश


कहीं टूटे पत्ते ,
कहीं बिखरे पुष्प,
कहीं कलियों का
स्नान है .
यह बारिश भी,
किसी के लिए जीवन,
किसी के लिए
अंत का फरमान है.

5 टिप्‍पणियां:

  1. your kavita like a sweet honey, when you start reading..... You feel, I have it honey and I want more....

    :)

    Poetry is “God Gift”
    ============
    Yogesh Dhiman

    उत्तर देंहटाएं
  2. किस खूबसूरती से लिखा है आपने। मुँह से वाह निकल गया पढते ही।

    उत्तर देंहटाएं